Sunday, November 15, 2015

फ्रांस अटैक बनाम नास्त्रेदमस का तीसरा महायुद्ध

13 नवंबर को फ्रांस मे जो खूनी खेल खेला गया उसे नास्त्रेदमस ने सालों पहले बर्बर सेना का नाम दिया था । जब मैने पूर्व मे भी लिखा था कि हम लोग वर्तमान मे तीसरे महायुद्ध के दौर से गुजर रहे हैं तो मुझे कई मित्रों की आलोचना का शिकार होना पडा जिसके बाद मैने वह सीरिज लिखना बंद कर दिया । लेकिन अब जबकि मेरे प्रिय आलोचकों को पोप ने तीसरे महायुद्ध की शुरूआत होने की बात कह कर जवाब दे दिये तो मैं उसी कडी को आगे बढाना चाहूँगा । यदि मैने आज से दो माह पूर्व ही यह सब लिख दिया होता तो शायद आप लोगों को तब यकिन नही होता कि इतना भीशण काण्ड होगा और दुनिया अचानक तीसरे महायुद्ध में उलझी नजर नही आती , लेकिन क्या अब आपके पास उन बातों का जवाब है जिसे नास्त्रेदमस नें 400 साल पहले ही बयान कर दिया था ।  खैर अब तीसरे महायुद्ध की बात करते हैं और आपको बताते हैं क नास्त्रेदमस की कूट भविष्यवाणी क्या कहती है -
सेंचुरी 7/70 -  He will enter, wicked, unpleasant, infamous, tyrannizing over Mesopotamia. All friends made by the adulterous lady, the land dreadful and black of aspect. 
ये मूल भविष्यवाणी है जिसका आप कुछ भी अनुवाद कर सकते हैं लेकिन जब इसे अंग्रेजी मे ही लिखा पढते हैं तो कुछ शब्द बनते हैं - मेसोपोटामिया, क्रूर, निर्दयी, व्याभिचार, महिला , दोस्त , मजबूत , काला , जमीन ... 
अब इसका सीधा सा रूपांतर करते हुए बात करते हैं कि एक  क्रूर और निर्दयी व्यक्ति   मेसोपोटामिया मे शासक बनेगा और अनेक प्रबल दोस्त बनाएगा । उसके लोग महिलाओं को व्याभिचार का जरिया बनाएंगे और वह काले लोगों की धरती से होकर अनेक देशों को युद्ध की आग मे झुलसा देगा । 
अब आप जानना चाहेंगे कि ये मोसोपोटामिया कौन सा देश है ? तो दोस्तो  मेसोपोटामिया का यूनानी अर्थ है "दो नदियों के बीच"। यह इलाका दजला और फ़ुरात नदियों के बीच के क्षेत्र में पड़ता है। इसमें आधुनिक इराक़ बाबिल ज़िला, उत्तरपूर्वी सीरिया, दक्षिणपूर्वी तुर्की तथा ईरान का क़ुज़ेस्तान प्रांत के क्षेत्र शामिल हैं यानि लगभग वह सारे क्षेत्र जो वर्तमान में ISIS के पास है ।
अब आते हैं दुसरी कडी पर सेंचुरी 1/51 -  The head of Aries, Jupiter and Saturn. Eternal God, what changes ! Then the bad times will return again after a long century; what turmoil in France and Italy.
इसमें तो शायद कुछ शंका ही नही बचती है । सीधी सी बात है बृहस्पति और शनि जब मेष राशि मे प्रवेश करेंगे तब फ्रांस और इटली दोनो ही देशों मे अफरा तफरी मचेगी । दोनो देश भीषण युद्ध की चपेट मे आकर चरमपंथीयों के गुलाम बन जाएंगे । ( गुलाम बन जाएंगे नास्त्रेदमस के दुसरे दोहों मे अस्पष्ट है ) लेकिन यह होकर रहेगा ।
तीसरी कडी इटली पर ही है - At the New City he is thoughtfil to condemn; the bird of prey offers himself to the gods. After victory he pardons his captives. At Cremona and Mantua great hardships will be suffered.
इटली के दो शहर मान्टुआ और क्रोमिया पर शिकारी पक्षी अपनी प्रार्थना पढेगा , जाहिर सी बात है कि इटली के इन दो शहरो का उल्लेख बताता है कि फ्रांस के साथ ही इटली पर भी तबाही बरपने वाली है ।
और यहां सेंचुरी 1/34 में  ( The bird of prey flying to the left, before battle is joined with the French, he makes preparations. Some will regard him as good, others bad or uncertain. The weaker party will regard him as a good omen. ) शिकारी पक्षी के सामने फ्रांस का झुकना बताता है ।
अब बात करते है आने वाले समय की तो  फ्रांस पर हुए हमले के बाद दुनिया भले ही कहे कि तीसरे महायुद्ध की शुरूआत हो रही है लेकिन हमें तो पहले से पता है कि हम तीसरे महायुद्ध की शुरूआत देख चूके हैं ।
तो अब और आगे क्या ... आगे यह है कि The head of Aries, Jupiter and Saturn.  Eternal God, what changes   ! Then the bad times will return again after a long century;  what turmoil in France and Italy. 
अगर हालात पर ध्यान दें तो साफ जाहिर है कि अब फ्रांस और इटली मे भारी उथल पुथल और मारकाट  का दौर शुरू होने वाला है  . फ्रांस पर हमले के बाद इटली भी  खौफजदा है क्योंकि वर्तमान में उस पर सीधा हमला ईसाईयत के सबसे बडे दुश्मन इस्लाम से हो रहा है जो ईसाइयों से कही ज्यादा क्रूर, खौफनाक और कट्टरपंथी है  और अब आगे की ओर बढते हैं जहां 54 नंबर पर नास्त्रेदमस कहते हैं - I the land with a climate opposite to Babylon there will be great shedding of blood. Heaven will seem unjust both on land and sea and in the air. Sects, famine, kingdoms, plagues, confusion. 
यानि मिश्र (बेबीलोन) की विपरित आबोहवा वाले देश मे प्लेग जैसी बीमारियों के साथ ही खून की नदियां बहेंगी भारी रक्तपात और बीमारीयों से वह राज्य तबाही के कगार पर पहुंच जाएगा ... यहां पर सीधी बात ये समझ मे आती है कि किसी यूरोपीय देश पर कीटाणु या रासायनिक हमला होने की भी संभावना है ।
अब आगे सेंचुरी 2 के 34वें दोहे को देखते है The senseless ire of the furious combat Will cause steel to be flashed at the table by brothers: To part them death, wound, and curiously,  The proud duel will come to harm France. 
 जिसमे लिखा गया है कि एक मेज पर दो भाई विध्वंस के लिये आपस मे ही लड लेंगे और इन सबसे भारी तबाही फ्रांस मे ही मचेगी . यानि की किसी संस्था मे शामिल दो देश आपस मे ही लड जाएंगे और एक आतंक का साथ देगा तो दुसरा शांति के मार्ग की बात करेगा । अभी जी 20 सम्मेलन चल रहा है जिसमे मुझे ऐसा लग रहा है कि शांति बनाने की अपील चीन के द्वारा की जा सकती है ताकि शांति की आड मे वह अपनी आतंकी सहयोग मुहिम को आगे बढा सके ।
लेकिन यह सब कब होगा
इसे नास्त्रेदमस सेंचुरी 6-55 मे कहते हैं कि - By the appeased Duke in drawing up the contract, Arabesque sail seen, sudden discovery: Tripolis, Chios, and those of Trebizond, Duke captured, the Black Sea and the city a desert. 
इसमें एक सागर के सूख कर रेगिस्तान बनने की  बात कही गई है और आपको ये जानकारी होना ही चाहिये की वर्तमान मे दुनिया का चौथा सबसे बडा सागर अरल सागर वर्तमान मे सूख कर रेगिस्तान बन चूका है -
ये थी अरल सागर की पहले की तस्वीर

और ये है आज के सूखे अरल सागर की तस्वीर 




.....
शेष जारी रहेगा