Tuesday, August 17, 2010

हत्या या आत्महत्या ः- मामला आप सुलझांए ।

आप सभी पाठक गणों से अनुरोध है कि इन प्रश्नों के हल ढुंढने का प्रयास करें ताकि निधी की आत्मा को शांति मिल सके ।


                       अभी तक केवल दैनिक अमृत संदेश और नई दुनिया  के अलावा और किसी भी अखबार को निधी की मौत एक सामान्य सा आत्महत्या की खबर लग रही थी, लेकिन सच्चाई क्या है ये आप बताएं -  अधिक फोटो व दस्तावेजों के लिये क्लिक करें ।  
Qj

क्या ऊपर की तस्वीरें झूठ कह रही हैं या फिर आंखो का धोखा है । अगर ऐसा लगता कि ये एक इत्तेफाक है तो जरा गौर फरमाए इस बात पर 



 



क्या आप इस बात पर यकिन कर सकते हैं कि शरीर में आग जल रही हो और कोई व्यक्ति बिना तडपे या भागदौड करे बिना एक जगह चुपचाप पडे पडे जल कर मर सकता है ? यदि आप इस बात पर यकिन कर सकते हैं तो आपके लिये ये देखना भी जरूरी है ः-




क्या आप इतनी चीजें देखकर कहेंगे कि ये एक साधारण आत्महत्या का मामला है । आइये जरा हम पाठकगण भी कुछ पोस्टमार्टम करें तस्वीरों का ः-





फोटो में दर्ज नंबरों के आधार पर पैदा हुए सवाल जिनके जवाब चाहिये ः-

प्रश्न -1 .आंखों में से खून बाहर क्यों निकला ?

प्रश्न -2 . नाक से खून किन कारणों से लगातार बहता रहा ? (पोस्टमार्टम ककी टेबल पर भी          लगातार  बह रहा था )

प्रश्न -3 .जीभ मुंह से इतनी बाहर कैसे निकली ?

प्रश्न -4 . हाथ इतनी बुरी तरह से कैसे जला, क्योंकि अपने हाथों से मिट्टी तेल अपने शरीर पर डालने से हाथ में मिट्टी तेल नही गिरता है जिसकी वजह से हाथ नही जलते ।

प्रश्न -5. कान पूरी तरह से जल गये हैं ।

प्रश्न -6. जब कान इस बुरी कदर जल गए तो फिर पिछे सिर के बाल बिना जले कैसे रह गए  ?

प्रश्न -7. अगर निधी नें आत्महत्या की तो सिर के बीच में ये चोट कैसे लगी ?

प्रश्न -8. हर जले भाग में इसी तरह से चमडी फटी है , लेकिन फफोले ( जलने के बाद जो पानी से भरे  छाले पडते हैं ) क्यों नहीं पडे ?

सभी पाठक गणों से अनुरोध है कि इन प्रश्नों के हल ढुंढने का प्रयास करें ताकि निधी की आत्मा को शांति मिल सके ।