Friday, November 26, 2010

26 नवंबर और हम


आज 26 नवंबर ..... हम पर हुए आतंकी हमले की दुसरी बरसी का दिन । इन दो सालों में हमने क्या पाया है या क्या खोया है ये सिर्फ हमें ही जानना है । कल शाम को भारत की तरफ से पाकिस्तान को कडा संदेश भारत की ओर से दिया गया है जानते हैं आप वो संदेश क्या है और कैसे दिया गया ... जानिये बिल्कुल जानिये क्योंकि आम जनता को राजनीती से कोई वास्ता नही होता है औऱ वो केवल अपने लिये दो जून की रोटी जुगाडने में लगी रहती है । यदि एक पत्रकार के नजरिये से संदेश दूंगा तो पूरी कहानी बतानी पडेगी लेकिन एक आम आदमी के नजरिये से बताऊं तो ...... तो शायद आपके दिल में जरूर लगेगी -
                                        ये दिल्ली में बैठी नपुंसक सरकार क्या कर रही है । हमारी छाती को लहूलुहान करने वालों से ये कैसी बातें कर रही है । अऱे जिन्हे बम बंदूक के अलावा कोई भाषा नही आती उन्हे किताबी ज्ञान बता रही है । शर्म करो सरदार अपनी बातों पर, जिन्होने बडे बडे बम दे मारे हम पर उन्हे केवल कडी निंदा और कडी बातों से जवाब दे रहे हो । जिसके साथियों नें हमारे देश की शान ताजमहल होटल को बरबाद कर दिया,  उस कसाब को जेल में फाइव स्टार होटल का खाना और आराम दे रहे हो । शर्म करो नेताओं कुछ तो शरम करो इतना पैसा खा गये देश का कि एक देश खरीद सकते हो तुम , फिर भी एक अदने से पाकिस्तान के आगे नतमस्तक क्यों हो गये तुम । जितना पैसा तुम देश द्रोही बन कर लेते हो , याद करो उससे ज्यादा तो तुम एक पुल बना कर कमा लेते हो ।   दो साल हो गये मुंबई का खून बहे तुमने आँसू पोछना तो दूर सुरक्षा के नाम पर भी पैसा खा गये । खा लो तुम जितना मर्जी पैसा,  देश कुछ नही पुछेगा लेकिन ...
                   अपने सपूतों का खून बहता देख जिस दिन आँसूओं का सैलाब उठेगा हे नेता तू मटियामेट हो जाएगा ।